World Trade Center
अंतरराष्ट्रीय

9/11 हमला जिसने दुनिया को दहला दिया

आतंकियों ने साल 2001 में 11 सितंबर को दो विमानों का मिसाइल की तरह उपयोग करके न्यूयार्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला किया था। इस हमले के आज 16 साल बीत चुके हैं। इस मनहूस दिन को कभी भी भूला नहीं जा सकता है।

अमेरिका में हमले के लिए 19 आतंकियों ने चार हवाई जहाज हाईजैक किए थे। जिसमें से दो हवाई जहाजों से वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला किया गया था। एक हवाई जहाज को पेंटागन में गिराया गया था। एक हवाई जहाज को शेंकविले के खेत में गिराया गया था। इस उड़ान में कोई भी जीवित नहीं बचा था।

ट्विन टावर पर आतंकी हमले में 2977 लोगों की मौत हुई जिनमें से 1115 की शिनाख्त अब तक नहीं हो सकी है। इस हमले में 90 से ज्यादा देशों के नागरिकों की मौत हुई थी। हमले के बाद फायर ब्रिगेड कर्मियों ने 100 दिन में आग पर पूरी तरह से काबू पाया था।

इस हमले में भवन का 18 लाख टन मलबा साफ करने में 75 करोड़ डॉलर खर्च हुए थे। ग्राउंड जीरो से सिर्फ 291 शव ठीक हालत में निकाले जा सके थे। अमेरिका की 10 अरब डॉलर की संपत्ति और इन्फ्रास्ट्रक्चर बरबाद हो गया था। हमले से 3.2 करोड़ वर्गफुट आफिस स्पेस खत्म हो गया था।

ट्विन टावर के प्रत्येक टावर में 110 मंजिले थीं। इस जुड़वां भवन का नॉर्थ टावर 1368 फुट ऊंचा और साउथ टावर 1362 फुट था। ट्विन टावर में 50 हजार लोग काम करते थे। इस भवन में 239 लिफ्ट लगी हुई थीं। बेसमेंट के वॉल्ट में 3800 गोल्ड बार रखे थे जिनका वजन 12 टन और कीमत 10 करोड़ डॉलर थी।

wefornews bureau 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top