Connect with us

व्यापार

फूडपांडा इंडिया डिलिवरी नेटवर्क पर करेगी 400 करोड़ रुपये का निवेश

Published

on

फूड ऑडरिंग और डिलिवरी चेन फूडपांडा इंडिया ने सोमवार को कहा कि वह अपने नेटवर्क को मजबूत बनाने के लिए अगले 12 से 15 महीनों में 400 करोड़ रुपये का निवेश करेगी और 25,000 डिलिवरी राइडर्स को भर्ती करेगी।

यहां जारी कंपनी के बयान के मुताबिक, यह निवेश प्रौद्योगिकी और लॉजिस्टिक नेटवर्क के विस्तार के लिए किया जाएगा, जिससे ग्राहकों के लिए बढ़िया सेवा की सुरक्षा हो सकेगी। फूडपांडा इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रणय जिवराजका ने बताया, प्रौद्योगिकी द्वारा समर्थित एक मजबूत वितरण पारिस्थितिकी तंत्र बनाना, भारतीय खाद्य तकनीक उद्योग की सबसे मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है।

Image result for foodpanda

हमने फूडपांडा में इसकी पहचान की है, इसलिए सभी मेट्रो और प्रमुख शहरों में हमारी डिलिवरी नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए हम 400 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।उन्होंने कहा, “हम 25,000 डिलिवरी राइडर्स की भर्ती कर अपनी कनेक्टिविटी का भी विस्तार करेंगे। साल 2017 के दिसंबर में ओला ने फूडपांडा का अधिग्रहण किया था और इसकी मूल कंपनी एएनआई टेक्नॉलजीज में 1,300 करोड़ रुपये निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई थी।

–आईएएनएस

व्यापार

सेंसेक्स में 318 अंकों की तेजी

Published

on

sensex
File Photo

देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को तेजी दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 318.20 अंकों की तेजी के साथ 34,663.11 पर और निफ्टी 83.50 अंकों की तेजी के साथ 10,513.85 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 59.23 अंकों की तेजी के साथ 34,404.14 पर खुला और 318.20 अंकों या 0.93 फीसदी की तेजी के साथ 34,663.11 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 34,741.46 के ऊपरी और 34,367.83 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में गिरावट रही। मिडकैप सूचकांक 38.21 अंकों की गिरावट के साथ 15,661.54 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 23.05 अंकों की गिरावट के साथ 16,953.83 पर बंद हुए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी सुबह 34.5 अंकों की तेजी के साथ 10,464.85 पर खुला और 83.50 अंकों या 0.80 फीसदी की तेजी के साथ 10,513.85 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,535.15 के ऊपरी और 10,419.80 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से 9 सेक्टरों में तेजी रही। सूचना प्रौद्योगिकी (2.45 फीसदी), प्रौद्योगिकी (2.37 फीसदी), दूरसंचार (2.23 फीसदी), बैंकिंग (1.41 फीसदी) और धातु (1.00 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे – तेल और गैस (1.72 फीसदी), वाहन (1.56 फीसदी), उपभोक्ता सेवाएं (1.03 फीसदी), रियल्टी (0.49 फीसदी) और उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं (0.32 फीसदी)।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

गेहूं, बादाम व अखरोट पर बढ़ा आयात शुल्क

Published

on

almonds-walnuts-

केंद्र सरकार ने गेहूं, बादाम ओर अखरोट पर आयात शुल्क बढ़ा दिया है। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड की ओर से बुधवार को जारी अधिसूचना के जरिए गेहूं पर आयात शुल्क 20 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दिया गया है।

माना जा रहा है देश में इस बार गेहूं का रिकार्ड उत्पादन होने के कारण विदेश से गेहूं का आयात रोकने के मकसद से सरकार ने आयात शुल्क में बढ़ोतरी की है। एक अलग अधिसूचना के जरिए बोर्ड ने अखरोट पर आयात शुल्क 30 फीसदी से बढ़ाकर 100 फीसदी कर दिया है।

इसके अलावा बादाम पर आयात शुल्क 65 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़ाकर 100 रुपये प्रति किलोग्राम कर दिया गया है। देश के सबसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर अनाज मंडी के जींस कारोबारी अशोक अग्रवाल ने बताया कि गेहूं पर आयात शुल्क बढ़ने की खबर के बाद भाव में 30-35 रुपये की तेजी आई है।

मिल क्वालिटी का गेहूं (सामान्य क्वालिटी) जहां दो दिन पहले 1570 रुपये प्रति क्विंटल में पहले बिक रहा था, वह ग़ुरुवार को 1605 रुपये प्रति क्विंटल हो गया। वहीं बेहतर क्वालिटी का गेहूं 1640 रुपये प्रति क्विंटल पर बिक रहा था।

दिल्ली के लांरेंस रोड स्थित अनाज मंडी में भी गेहूं का भाव गुरुवार को 1760 रुपये से बढ़कर 1775 रुये प्रति क्विंटल हो गया। केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से पिछले दिनों जारी फसल वर्ष 2017-18 (जुलाई-जून) के तीसरे अग्रिम उत्पादन अनुमान के अनुसार देश में इस साल गेहूं का उत्पादन रिकॉर्ड 986.1 लाख टन हो सकता है।

भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) की ओर से गुरुवार को ट्विटर हैंडल पर जारी गेहूं की सरकारी खरीद के आंकड़ों के अनुसार, केंद्र व राज्य सरकार की एजेंसियों ने देश के प्रमुख गेहूं उत्पादक प्रदेशों में अब तक 337.39 लाख टन गेहूं खरीद लिया है। व्यापारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले वित्त वर्ष में गेहूं का आयात तकरीबन 17 लाख टन हुआ था, जिसमें करीब दो लाख टन अभी तक बंदरगाहों पर पड़ा हुआ है।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

लगातार 11वें दिन महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल

Published

on

Petrol

दिल्ली 24 मई : पेट्रोल तथा डीजल की कीमत में बढ़ोतरी का सिलसिला 11वें दिन भी जारी रहा। मुंबई में पेट्रोल का दाम आज 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़तोरी के साथ 85 रुपये प्रति लीटर हो गया तथा डीजल 73 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया।

पिछले 11 दिनों में पेट्रोल तथा डीजल की कीमतों में ढाई रुपये प्रति लीटर से अधिक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत में हो रही बढ़ोतरी को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है और चुनावी वर्ष में यह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए चिंता का कारण बन सकता है। मोदी सरकार 26 मई को चार वर्ष का कार्यकाल पूरा करने जा रही है और उसके लिए सबसे बड़ी चिंता की वजह पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार 26 मई 2014 को केंद्र में बनी थी। तब से लेकर अब तक डीजल के दाम में 18 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी हो चुकी है जबकि पेट्रोल की कीमत में आठ प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

Continue Reading

Most Popular