Connect with us

व्यापार

फूडपांडा इंडिया डिलिवरी नेटवर्क पर करेगी 400 करोड़ रुपये का निवेश

Published

on

फूड ऑडरिंग और डिलिवरी चेन फूडपांडा इंडिया ने सोमवार को कहा कि वह अपने नेटवर्क को मजबूत बनाने के लिए अगले 12 से 15 महीनों में 400 करोड़ रुपये का निवेश करेगी और 25,000 डिलिवरी राइडर्स को भर्ती करेगी।

यहां जारी कंपनी के बयान के मुताबिक, यह निवेश प्रौद्योगिकी और लॉजिस्टिक नेटवर्क के विस्तार के लिए किया जाएगा, जिससे ग्राहकों के लिए बढ़िया सेवा की सुरक्षा हो सकेगी। फूडपांडा इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रणय जिवराजका ने बताया, प्रौद्योगिकी द्वारा समर्थित एक मजबूत वितरण पारिस्थितिकी तंत्र बनाना, भारतीय खाद्य तकनीक उद्योग की सबसे मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है।

Image result for foodpanda

हमने फूडपांडा में इसकी पहचान की है, इसलिए सभी मेट्रो और प्रमुख शहरों में हमारी डिलिवरी नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए हम 400 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।उन्होंने कहा, “हम 25,000 डिलिवरी राइडर्स की भर्ती कर अपनी कनेक्टिविटी का भी विस्तार करेंगे। साल 2017 के दिसंबर में ओला ने फूडपांडा का अधिग्रहण किया था और इसकी मूल कंपनी एएनआई टेक्नॉलजीज में 1,300 करोड़ रुपये निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई थी।

–आईएएनएस

ब्लॉग

मुकेश अंबानी ने ‘डेटा औपनिवेशीकरण’ के खिलाफ अभियान का आह्वान किया

Published

on

By

mukesh ambani

गांधीनगर, 18 जनवरी | औपनिवेशीकरण के खिलाफ महात्मा गांधी के अभियान को याद करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ‘डेटा औपनिवेशीकरण’ के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व करने की गुजारिश की और कहा कि भारतीय डेटा भारतीयों के ‘स्वामित्व और नियंत्रण’ में होने चाहिए। उन्होंने यहां वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट 2019 में कहा, “हम अपने राष्ट्रपिता को उनकी 150वीं जयंती के वर्ष में श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। गांधी जी ने राजनीतिक औपनिवेशीकरण के खिलाफ आन्दोलन चलाया था.. आज हम सब मिलकर डेटा औपनिवेशीकरण के खिलाफ नया अभियान शुरू कर रहे हैं।” इस समिट का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

अंबानी ने कहा कि डेटा नई दुनिया में ‘नया तेल और धन’ है। उन्होंने कहा कि भारत के डेटा का स्वामित्व और नियंत्रण भारतीय लोगों के हाथ में ही होना चाहिए और कॉर्पोरेट्स द्वारा नहीं किया जाना चाहिए, खासतौर से वैश्विक कॉर्पोरेशंस द्वारा नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, “माननीय प्रधानमंत्री, मैं आश्वस्त हूं कि आप अपने डिजिटल इंडिया मिशन के प्रमुख लक्ष्यों में इसे भी शामिल करेंगे।”

उन्होंने कहा, “भारत को इस डेटा संचालित क्रांति में सफल होने के लिए, हमें भारतीय डेटा का स्वामित्व और नियंत्रण वापस भारत भेजना होगा.. दूसरे शब्दों में भारतीय संपत्ति वापस लौटानी होगी। भारतीय डेटा को भरतीयों द्वारा नियंत्रित किया जाना चाहिए, न कि वैश्विक कॉर्पोरेट्स द्वारा। डेटा का नियंत्रण हमें अपने हाथों में लेने के लिए अभियान चलाने की आवश्यकता है।”

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अक्टूबर में कहा था कि सभी डिजिटल भुगतान कंपनियों जैसे गूगल प्ले, वाट्सएप और अन्य को अपने भारतीय कारोबार का डेटा स्थानीय तौर पर स्टोर करना चाहिए।

Continue Reading

व्यापार

शेयर बाजारों में मामूली तेजी, सेंसेक्स 13 अंक ऊपर

Published

on

देश के शेयर बाजारों में शुक्रवार को मामूली तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 12.53 अंकों की तेजी के साथ 36,386.61 पर और निफ्टी 1.75 अंकों की तेजी के साथ 10,906.95 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 43.5 अंकों की तेजी के साथ 36,417.58 पर खुला और 12.53 अंकों या 0.03 फीसदी तेजी के साथ 36,386.61 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 36,469.98 के ऊपरी और 36,218.33 के निचले स्तर को छुआ।

सेंसेक्स के 30 में से 12 शेयरों में तेजी रही। रिलायंस (4.34 फीसदी), कोटक बैंक (1.41 फीसदी), एचसीएल टेक्नॉलजीज (1.02 फीसदी), ओएनजीसी (0.79 फीसदी) और एशियन पेंट्स (0.68 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -सन फार्मा (8.52 फीसदी), भारती एयरटेल (6.42 फीसदी), लार्सन एंड टूब्रो (2.07 फीसदी), एक्सिस बैंक (1.77 फीसदी) और यस बैंक (1.59 फीसदी)।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में गिरावट रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 118.94 अंकों की गिरावट के साथ 15,023.39 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 106.92 अंकों की गिरावट के साथ 14,504.60 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 9.65 अंकों की तेजी के साथ 10,914.85 पर खुला और 1.75 अंकों या 0.02 फीसदी तेजी के साथ 10,906.95 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,928.20 के ऊपरी और 10,852.20 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से तीन सेक्टरों ऊर्जा (2.69 फीसदी), तेल एवं गैस (0.36 फीसदी) और सूचना प्रौद्योगिकी (0.14 फीसदी) में तेजी रही। 

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे – दूरसंचार (3.83 फीसदी), स्वास्थ्य सेवाएं (2.00 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (1.42 फीसदी), रियल्टी (1.22 फीसदी) और औद्योगिक (1.12 फीसदी)।

बीएसई में कारोबार का रुझान नकारात्मक रहा। कुल 896 शेयरों में तेजी और 1,650 में गिरावट रही, जबकि 165 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ। 

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी

Published

on

petrol
फाइल फोटो

डीजल में दाम में वृद्धि का सिलसिला लगातार नौवें दिन जारी रहा। वहीं, पेट्रोल की कीमतों में भी लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी दर्ज की गई।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में एक दिन की नरमी के बाद फिर तेजी लौटी है। कच्चे तेल के दाम में पिछले दिनों आई तेजी के बाद तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल और डीजल के भाव में लगातार वृद्धि कर रही है।

तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को दिल्ली और चेन्नई में पेट्रोल के दाम में आठ पैसे जबकि मुंबई और कोलकाता में सात पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया। डीजल की कीमतें दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में 19 पैसे, जबकि मुंबई में 20 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई हैं।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 70.55 रुपये, 72.65 रुपये, 76.18 रुपये और 73.23 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों महानगरों में डीजल के दाम बढ़कर क्रमश: 64.97 रुपयेए 66.74 रुपये, 68.02 रुपये और 68.62 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार को कच्चे तेल में एक फीसदी से ज्यादा की तेजी आई। इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर मार्च डिलीवरी ब्रेंट क्रूड के वायदा सौदे में 0.90 फीसदी की बढ़त के साथ 61.73 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था, जबकि कारोबार के दौरान 61.83 डॉलर प्रति बैरल का ऊंचा स्तर रहा। न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज पर अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट के फरवरी डिलीवरी सौदे में 1.13 फीसदी की तेजी के साथ 52.77 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular