शहर

गौरी लंकेश हत्या से सबक लेते हुए राज्य सरकार ने 25 प्रगतिशील लेखकों को दी सुरक्षा

Gauri lankesh
गौरी लंकेश, डाभोलकर, पंसारे और कलबुर्गी जिनकी कट्टरपंथियों द्वारा हत्या कर दी गई थी।

गौरी लंकेश की हत्या के बाद कर्नाटक सरकार ने 25 प्रगतिशील लेखकों को सुरक्षा दी है। इन 25 प्रगतिशील लेखकों के नाम खुफिया जांच एजेंसियों के सुझाव पर तय किए गए हैं।

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया के सुझाव पर पुलिस ने लेखकों को सुरक्षा देने का कदम उठाया है।

ताकि सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वाले और लिखने वालों को सुरक्षा दी जा सके। सुरक्षा पाने वाले साहित्यकारों लेख़क और विचारकों में गिरीश कर्नाड, बारागुर रामचंद्रप्पा, केएस भगवान, योगेश मास्टर, बनजगेरे जयप्रकाश, पाटील पुतप्पा, चेनवीरा कानवी, नटराज हुलियार और चंद्रशेखर पाटिल शामिल हैं।

कर्नाटक में वीरशैव और लिंगायत के बीच अलग धर्म की मांग को लेकर चल रही तनातनी के बीच लिंगज्ञात समुदाय के कुछ मजबूत समर्थकों, जिनमें पूर्व आईएएस अधिकारी एसएम जामदार शामिल हैं, उन्हें भी लंकेश की हत्या के बाद राज्य सुरक्षा प्रदान की गई है।

इससे पहले 2015 में कलबुर्गी की हत्या के बाद, दक्षिणपंथी कार्यकर्ता भुविथ शेट्टी ने ट्विटर पर आपत्तिजनक ट्वीट किया, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

WeForNews Bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top