दिल्ली में कोरोना के 2187 नए मामले | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

दिल्ली में कोरोना के 2187 नए मामले

Published

on

दिल्ली में आज कोरोना के 2187 नए मामले सामने आए जबकि ठीक होने वालों की संख्या 4027 रही। वहीं बुधवार को 2033 नए मामले सामने आए थे और कोरोना को मात देने वालों की संख्या 3982 थी।

गुरुवार शाम जारी हुई दिल्ली सरकार की हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2187 नए मामले सामने आए हैं।

इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर अब 1 लाख 7 हजार 51 हो गई है। कुल मरीजों में से 82 हजार 226 लोग इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं।

वर्तमान में दिल्ली में कोरोना के 21 हजार 567 सक्रिय मामले हैं। वहीं इस महामारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या अब 3258 हो गई है। दूसरी तरफ दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या अब बढ़कर 563 हो गई है।

WeForNews

राष्ट्रीय

नोएडा: 2297 रैपिड एंटीजन जांच में मिले 28 संक्रमित

Published

on

Coronavirus
प्रतीकात्मक तस्वीर

गौतमबुद्धनगर। उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर(नोएडा) जिले में जिला प्रशासन के दिशा-निर्देशों के अनुपालन में नोएडा के 5 क्षेत्रों में रैपिड एंटीजन मेडिकल टेस्टिंग की गई। जिले में विभिन्न स्थानों पर लगाए गए कैम्प में कुल 2297 लोगों का रैपिड एंटीजन जांच हुई, इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरी तरह से पालन किया गया। राहत की बात यह रही कि 2297 लोगों में से कुल 28 लोग ही कोरोना संक्रमित पाए गए।

Continue Reading

राष्ट्रीय

कोरोना के चलते गहरा सकती है भूख, अल्प-पोषण की समस्या : उपराष्ट्रपति

Published

on

Venkaiah Naidu
उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि कोरोना की वजह से वैश्विक आर्थिक मंदी के साथ-साथ भूख और अल्प-पोषण की समस्या गहरा सकती है।

उन्होंने कहा कि भारत ने भूख, कुपोषण और शिशु मृत्युदर को कम करने में महत्वपूर्ण प्रगति की है और देश में स्वास्थ्य व पोषण संबंधी समस्याओं से निपटने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है।

उन्होंने विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों के बारे में बताते हुए हाल ही में घोषित नई शिक्षा नीति में स्कूली बच्चों को पौष्टिक नाश्ता प्रदान करने के प्रावधान पर खुशी जाहिर की।

उपराष्ट्रपति ने यहां एम.एस. स्वामीनाथन फाउंडेशन द्वारा विविध भोजन, पोषण एवं आजीविका के विज्ञान पर आयोजित वर्चुअल परामर्श का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा, अत्यधिक प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों में निवेश करने के बजाय हमें खाद्य उत्पादों के पोषण मूल्य को बनाए रखने के लिए बेहतर भंडारण, प्रसंस्करण और संरक्षण में निवेश करना चाहिए।

भोजन, कृषि और व्यापार नीतियों की समय-समय पर लगातार समीक्षा करने की आवश्यकता पर जोर डाला। उन्होंने अधिक पोषण-युक्त भोजन के लिए कृषि से जुड़ी प्राथमिकताओं में सुधार की अपील की।

प्रौद्योगिकी के माध्यम से किसानों की मदद करने के लिए डॉ. स्वामीनाथन के प्रति सम्मान और कृतज्ञता व्यक्त करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि वह डॉ. स्वामीनाथन के सुझावों का बारीकी से पालन करते हैं और संसद सहित जीवन के हर क्षेत्र वे उनका पालन करते रहेंगे।

नायडू ने महिलाओं को भूमि अधिकार प्रदान करने के डॉ. स्वामीनाथन के सुझाव का भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि भूमि अधिकार, पट्टा, और अन्य सभी संपत्ति संयुक्त रूप से पुरुष और महिला के नाम पर होनी चाहिए।

Continue Reading

राष्ट्रीय

मंदिर में एक हजार वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे रामलला: चंपत राय

Published

on

(फाइल फोटो)

अयोध्या। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि ऐसा मंदिर बनेगा, जिसमें रामलला एक हजार वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे। फिलहाल रामलला मंदिर की नींव की ड्राइंग बनकर तैयार है। निर्माण के लिए एलएनटी कंपनी तैयार है।

चंपत राय ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण का काम चंद रोज में शुरू हो जाएगा। राम मंदिर निर्माण कार्य के बारे में जानकारी देते हुए राय ने बताया कि अब तकनीकी काम है। यह मंदिर 1000 साल तक इस सृष्टि के आंधी-तूफान को सहता रहेगा। इसलिए निर्माण में उसी तरह की तकनीकी का इस्तेमाल भी होगा।

उन्होंने कहा कि लार्सन टूब्रो के लोग नींव की ड्राइंग तैयार करने आए थे। निर्माण में लोहे का प्रयोग नहीं होगा। अयोध्या विकास प्राधिकरण से 70 एकड़ भूमि में जितना निर्माण हो सकता है, उसका नक्शा पास होगा।

राय ने कहा कि निर्माण कंपनी ने अभी तक ट्रस्ट के सामने ड्राइंग पेश नहीं की है। ड्राइंग देखने के बाद नींव खोदाई और उसको भरने का कार्य शुरू होगा। मंदिर की नींव दो सौ फीट नीचे होगी।

उन्होंने कहा, इसके साथ ही आप सभी को जानकारी दे दें कि इस मंदिर की नींव में लोहे का प्रयोग नहीं होगा। इसकी नींव की खुदाई में जो भी कुछ मिलेगा, उसके लिए ट्रस्ट सतर्क रहेगा। ट्रस्ट अब विकास प्राधिकरण से यहां के संपूर्ण 70 एकड़ क्षेत्र का नक्शा पास कराएगा।

चंपत राय ने कहा, रामलला की जन्मभूमि पर बड़ी संख्या में प्राचीन अवशेष मिलने की उम्मीद है। हम उसको सहेज के रखेंगे।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए बड़ी संख्या में दानदाता सामने आ रहे हैं। जब राम जन्मभूमि परिसर की जिम्मेदारी ट्रस्ट को सौंपी गई ती तो रामलला के पास मात्र 12 करोड़ रुपये की जमा पूंजी थी। अब यह 30 करोड़ के करीब पहुंच गई है। शिला-पूजन के दिन रामलला को 49,000 रुपये का दान मिला था।

राय ने स्पष्ट रूप से कहा कि हम अभी विदेशों से दान नहीं लेंगे।

ट्रस्ट के महासचिव ने कहा,कि ट्रस्ट में अब तक 30 करोड़ रुपये आ चुके हैं। इसमें से 12 करोड़ रुपये ट्रस्ट के पास पहले से ही थे। उन्होंने यह भी बताया कि शिवसेना की पर्ची मिली है और एक करोड़ रुपये आ गए हैं, जिसको मैं समझता हूं कि उद्धव ठाकरे के सहयोग से आया होगा और उनका संदेश हमें प्राप्त हुआ है कि अभी और पैसा वे भेजेंगे।

चंपत राय ने कहा कि मोरारी बापू के सहयोग से 4 दिन में 11 करोड़ रुपये ट्रस्ट में आए। गुजरात के एक बनवासी संत हैं, उन्होंने 51 लाख रुपये देने की बात कही है और 11 लाख रुपये 5 तारीख को दे भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि जगत गुरु रामभद्राचार्य ने भी एक करोड़ 51 लाख रुपये लिख लेने को कह दिया है, अभी प्राप्त नहीं हुआ है।

बाबा रामदेव ने कितना दिया? यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा,बाबा रामदेव हमारे घर के हैं, हमने अभी उनसे मांगा नहीं है, जल्द मांगेंगे।

Continue Reading

Most Popular