राष्ट्रीय

ISIS के 2 आतंकियों को मिली 7 साल की सजा

ISIS
file photo

नई दिल्ली। दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट की विशेष एनआइए अदालत ने प्रतिबंधित आतंकी इस्लामिक संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) के दो आतंकियों को सात सजा की कड़ी सजा सुनाई है। दोनों आतंकियों को ISIS में भर्ती होने के लिए युवाओं को भड़काने को दोषी पाया गया है।

गौरतलब है कि दोनों आतंकियों ने पिछली सुनवाई (29 मार्च) में पटियाला हाउस कोर्ट की विशेष एनआइए अदालत में अपना अपराध स्वीकार कर लिया था। जांच एजेंसी एनआइए ने दोनों को ISIS से जुड़ने के लिए नौजवानों को प्रेरित करने व फंड इकट्ठा करने के लिए आरोपी बनाया था।

वहीं, न्यायाधीश अमरनाथ के समक्ष आतंकी अजहर-उल-इस्लाम (24) और मोहम्मद फरहान शेख (25) ने याचिका लगाकर कहा था कि उन्हें अपने कृत्य का पछतावा है और वह अब वापस मुख्य धारा से जुड़ना चाहते हैं। अदालत ने इस याचिका पर एनआइए को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने के लिए कहा था।

उधर, वकील एमएस खान द्वारा लगाई गई इस याचिका में कहा गया था कि उनका कोई पुराना आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। वह रास्ता भटक गए थे। उन्हें अपनी गलती का अहसास है। वह वापस मुख्यधारा में जुड़कर समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं। कहा गया कि वह बिना किसी के डर व दबाव से अपना अपराध स्वीकार कर रहे हैं।

बता दें कि दुबई से भारत लौटते ही 28 जनवरी को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने इन्‍हें गिरफ्तार कर लिया था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक अदनान पहले कथित तौर पर इंडियन मुजाहिद्दीन से जुड़ा हुआ था और बाद में आईएसआईएस के करीब पहुंचने लगा।

एनआईए की रिपोर्ट के मुताबिक इन तीनों ने आईएसआईस के लिए फंड जमा करने, संदिग्धों के चयन और उन्हें आईएसआईएस में शामिल होने के लिए सीरिया पहुंचाने में मदद की है। बताया जा रहा है कि इन्होंने आईएसआईएस की कट्टर विचारधारा के प्रचार के लिए कथित तौर पर सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म की भी मदद ली। इसमें फेसबुक, व्हाट्सएप, वाइबर और स्काइप हर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म शामिल है।

wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top