Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका में माइकल तूफान से अबतक 17 की मौत

Published

on

HURRICANE

अमेरिका तूफान ‘माइकल’ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। तूफान ने जॉर्जिया से वर्जीनिया तक बड़ी तबाही मचाई है। घर, दुकानें और कृषि भूमि जलमग्न हो गई हैं।

सीएनएन की शनिवार की खबर के मुताबिक, 10 लाख से ज्यादा लोग बिना बिजली के रह रहे हैं। खोज एवं बचाव कार्य जारी रहने की वजह से मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

संघीय आपात प्रबंधन एजेंसी के प्रशासक ब्रॉक लोंग ने कहा, “मुझे लगता है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि हम मलबा हटा रहे हैं।” कुल 17 मृतकों में से फ्लोरिडा के आठ, वर्जीनिया के पांच, नॉर्थ कैरोलिना के तीन और जॉर्जिया से एक है।

–आईएएनएस

अंतरराष्ट्रीय

परमाणु शस्त्रागार अधिक सशक्‍त बनाएगा अमेरिका

Published

on

Donald Trump
डोनाल्‍ड ट्रम्‍प, राष्‍ट्रपति, अमेरिका (फाइल फोटो)

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस व चीन पर दबाव बनाने के लिए अमेरिकी परमाणु शस्त्रागार को सशक्त बनाने की बात कही है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस ने इसके जवाब में कहा कि अगर अमेरिका ज्यादा हथियार विकसित करता है तो वह भी उसी प्रकार से उसका जवाब देगा।

रूस के 1987 के इंटरमीडिएट-रेंज न्यूक्लिर फोर्स (आईएनएफ) समझौते के उल्लंघन की तरफ इशारा करते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिका अपना शस्त्रागार बनाएगा, जब तक कि लोगों को समझ में नहीं आता।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने मीडिया से कहा, “यह उन लोगों को धमकी है, जिसे आप शामिल करना चाहते हैं, चाहे चीन हो या इसमें रूस को शामिल कर सकते हैं। इसमें किसी को भी शामिल कर सकते हैं जो भी यह खेल खेलना चाहता हो।”

ट्रंप ने सोमवार को शीतयुद्ध काल के समझौते को दोहराते हुए कहा, “रूस ने समझौते की भावना या समझौते का पालन नहीं किया।”

शीतयुद्ध काल के समझौते में मध्यम रेंज की मिसाइलों पर प्रतिबंध है।

रूस पहले ही इससे इनकार कर चुका है। आईएनएफ का मकसद यूरोपीय देशों के कथित सोवियत खतरे को कम करना था।

रूस ने अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन से कहा कि अमेरिका का समझौते से हटने की योजना परमाणु अप्रसार व्यवस्था के लिए गंभीर झटका होगा।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

मसूद को वैश्विक आतंकी का दर्जा नहीं दिया जा सकता: चीन

Published

on

masood-azhar
आतंकी मसूद अजहर (फाइल फोटो)

बीजिंग। चीन ने कहा कि वह भारत को कई दफा बता चुका है कि पाकिस्तान के मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में उसे दिक्कते हैं और वह इस मामले में अपने आप संज्ञान लेगा। चीन का यह बयान अजहर को काली सूची में डालने के लिए बीजिंग से नई दिल्ली द्वारा फिर से आग्रह करने के बाद आया है।

बीजिंग ने इस बात से इंकार किया कि उसने प्रतिबंधित भारतीय संगठन उल्फा के प्रमुख परेश बरुआ को शरण नहीं दिया है। उसने कहा कि वह अन्य देशों के घरेलू मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता।

भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और उनके चीनी समकक्ष झाओ केझी के बीच एक उच्चस्तरीय बैठक में नई दिल्ली ने बीजिंग से लश्कर प्रमुख अजहर को संयुक्त राष्ट्र की अंतर्राष्ट्रीय आतंकी सूची में डालने के उसके लंबित आवेदन पर गौर करने को कहा था।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता, हुआ चुनयिंग ने कहा, “मसूद अजहर को सूची में डालने के भारत के अनुरोध पर हम पहले भी कई दफा अपने रुख से अवगत करा चुके हैं। आतंकवाद से निपटने के मुद्दे पर चीन ने हमेशा अंतर्राष्ट्रीय आतंक रोधी अभियानों में सक्रियता से भाग लिया है।”

हुआ ने कहा, “हमने हमेशा खुद से किसी मामले पर औचित्य के आधार पर अपना फैसला किया है।”

अजहर 2016 में भारतीय सैन्य ठिकाने पर हुए एक घातक हमले का मास्टरमाइंड है। उसने 26/11 मुंबई हमले की भी साजिश रची थी।

पाकिस्तान के मुख्य सहयोगी चीन ने कई बार संयुक्त राष्ट्र में अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के भारत के आवेदन में बाधा पैदा की है। उसका कहना है कि अजहर के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

नई दिल्ली और बीजिंग के बीच यह एक बड़ा मुद्दा बन चुका है।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

इराक: कार में बम विस्फोट, 7 की मौत

Published

on

Car Bomb Blast
प्रतीकात्मक तस्वीर

इराक के मोसुल शहर में कार बम विस्फोट में सात लोगों की मौत हो गई जबकि 20 घायल हो गए। इराकी सेना के कर्नल रयाद अल-बुरोी ने सिन्हुआ को बताया कि विस्फोट सुबह के समय मोसुल से 50 किलोमीटर दूर कयारा में एक लोकप्रिय बाजार में कार में हुआ।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular