ब्लॉग

हिन्दू युवा वाहिनी के ज़रिये योगी की संघ-बीजेपी को खुली चुनौती…!

Related image

जब तक संघ का योगी आदित्यनाथ से मोह भंग होगा, तब तक वो अपने हिन्दू युवा वाहिनी को इतना बड़ा बना चुकेंगे, जितना महाराष्ट्र में शिवसेना और उसके शिवसैनिक हैं! हिन्दू युवा वाहिनी के संरक्षक ख़ुद योगी ही हैं। वही इसके जन्मदाता और प्रतिपालक भी हैं। योगी के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद से हिन्दू युवा वाहिनी का क़द बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है। इसकी उन्मादी हरक़तें इस क़दर बेलग़ाम हो चुकी हैं कि संघ-बीजेपी के लिए भी चिन्ता का सबब बन गयी हैं!

Image result for शनिवार, 13 मई को बस्ती में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की शान

शनिवार, 13 मई को बस्ती में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की शान में एक कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन हुआ। वहाँ योगी के पहुँचने से पहले ही हिन्दू युवा वाहिनी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर भिड़न्त हो गयी कि पंडाल में झंडा किसका लगेगा? हिन्दू युवा वाहिनी ने वहाँ पहले से ही अपने झंडे लगा रखे थे। उन्हें उतारकर बीजेपी कार्यकर्ता अपनी पार्टी का झंडा लगाना चाहते थे। हालाँकि, झगड़े को हिंसक बनने से पहले ही बीच-बचाव से सुलझा लिया गया। लेकिन सारे प्रसंग की जानकारी पाकर मुख्यमंत्री योगी ख़ासे नाराज़ हो गये। योगी ने कार्यक्रम में ही बीजेपी कार्यकर्ताओं को सलाह और चेतावनी दोनों दे दी कि वो क़ानून के दायरे में रहें!

Image result for keshav prasad maurya 14 may speech hindu yuvaयोगी आदित्यनाथ के ऐसे तेवरों के बाद बीजेपी के मठाधीशों के तन-बदन में आग लगना स्वाभाविक था! ख़बर ऊपर तक पहुँचायी गयी। बीजेपी में भी और संघ में भी। वहाँ से ख़ास हिदायतें पाने के बाद रविवार 14 मई को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने हिन्दू युवा वाहिनी को उसकी औक़ात बताने का ज़िम्मा अपने हाथों में लिया। मौर्य ने बयान दिया कि हिन्दू युवा वाहिनी जैसा बीजेपी का कोई विंग नहीं है! बीजेपी की खिसियाहट को छिपाते हुए मौर्य ने हिन्दू युवा वाहिनी को बीजेपी के लिए किसी भी तरह का ख़तरा मानने से भी इनकार किया। लेकिन सच्चाई तो ये भी मौर्य अभी भी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष हैं और वो अच्छी तरह से जान रहे हैं कि कट्टरवादी हिन्दुओं के बीच हिन्दू युवा वाहिनी का प्रभाव बहुत तेज़ी से बढ़ता जा रहा है। योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से इसके सदस्यों की संख्या में भारी इज़ाफ़ा हुआ है।

केशव प्रसाद मौर्य पहले भी हिन्दू युवा वाहिनी के बढ़ते क़द को लेकर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर कर चुके हैं। इसका नाम लिये बग़ैर मौर्य ने कहा था कि उत्तर प्रदेश शासन में ‘आउटसाइडर’ यानी बाहरी ताक़तों के प्रभाव को बढ़ने नहीं दिया जा सकता! इस तरह, साफ़ है कि मौर्य को उनके आकाओं की ओर से इशारा मिल चुका है कि वो अपने हिसाब से हिन्दू युवा वाहिनी से निपट लें। उधर, योगी भी किसी के सामने हल्का पड़ने की सोच तक नहीं सकते! लिहाज़ा, ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि संघ नेतृत्व योगी पर कैसे नकेल कसेगा…!

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top