Connect with us

लाइफस्टाइल

वायु प्रदूषण से बचने के लिए खाएं ये 8 चीजें…

Published

on

smog-pollution
File Photo

दिल्ली में वायु प्रदूषण जान के लिए आफत बनता जा रहा है। ठंड से पहले वायु प्रदूषण का गुबार लोगों के फेफड़ों को नुकसान पहुंचा रहा है। यह जहरीला प्रदूषण लोगों को कई तरह की बीमारियों का शिकार बना रहा है।

Image result for वायु प्रदूषण

इससे लोगों को सांस लेने में दिक्कतें हो रही हैं, लोगों की आंखें जल रही हैं। वायु प्रदूषण का असर सबसे ज्यादा बुजुर्गों और बच्चों पर पड़ रहा है। वायु प्रदूषण में मौजूद केमिकल टॉक्सिन और गाड़ियों से निकलने वाले धुएं की वजह से अस्थमा जैसी बीमारी होने का खतरा बढ़ता जा रहा है। आम दिनों के मुकाबले काफी बढ़ गया है, जो लोग पहले से ही अस्थमा के शिकार हैं उनके लिए यह प्रदूषण किसी जहर से कम नहीं है।

 

एक्यूआई इंडेक्स 150 से ज्यादा होने पर ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी वाली एक्सरसाइज, क्रिकेट, हॉकी, साइकलिंग, मैरॉथन से परहेज करें। प्रदूषण स्तर के 200 से ज्यादा होने पर पार्क में भी दौड़ने और टहलने ना जाएं। जब प्रदूषण स्तर 300 से ज्यादा हो तो लंबी दूरी की वॉक ना करें।

जब स्तर 400 के पार हो तो घर के अंदर रहें, सामान्य वॉक भी ना करें। घर के भीतर रहें। प्रदूषण स्तर 1000 पर होने पर पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी जैसे हालात होते हैं। इस स्तर पर बिल्कुल भी घर से बाहर ना निकलें, घर पर ही रहें।

वायु प्रदूषण से होती हैं ये परेशानियां-

वायु प्रदूषण से खांसी, ब्रॉन्काइटिस, दिल की बीमारी, त्वचा संबंधी रोग, बाल झड़ना, आंखों में जलन, नाक, कान, गला, फेफड़े में इंफेक्शन, ब्लड प्रेशर के रोगियों को ब्रेन स्ट्रोक की समस्या हो सकती है। दमा के रोगियों को अटैक पड़ सकता है।

लेकिन इस वायु प्रदूषण से इतना ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हम आपको कुछ ऐसा बता रहे हैं, जिसे खाकर आप अपने फेफड़ों को प्रदूषण के कहर से बचा सकते हैं, आइए जानें कैसे….

वायु प्रदूषण से बचने के लिए यह खाएं:

गुड़– वायु प्रदूषण से बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी और फायदेमंद है गुड़। जी हां, अपनी डाइट में गुड़ को शामिल करके आप प्रदूषण या स्मॉग से होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं, क्योंकि गुड़ में एंटी एलर्जिक गुण शामिल होते हैं, जिस वजह से ये अस्थमा रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होता है।

Image result for गुड़

साथ ही गुड़ में आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। आयरन खून में हीमोग्लोबिन का लेवल सामान्य करता है। जिस वजह से खून में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ जाता है। यह बात कई स्टडीज में भी साबित हो चुकी है कि हर दिन गुड़ खाने से हवा में फैली प्रदूषण का सेहत पर ज्यादा असर नहीं होता है।

इसलिए शायद हमारे बुजुर्ग हमेशा खाने के बाद गुड़ जरूर खाते हैं और साथ ही सबको गुड़ खाने की सलाह भी देते हैं। गुड़ खाने से शरीर को एनर्जी तो मिलती ही है साथ ही यह खांसी-जुकाम जैसी परेशानियों को दूर करता है।

जैतून का तेल– जैतून के तेल में विटामिन ई पाया जाता है, जो फेफड़ों की समस्या को दूर कर इनके फंकशन को बेहतर बनाता है। जैतून के तेल में पाया जाने वाला फैटी एसिड शरीर की सूजन को कम करता है। इसके आलावा ये प्रदूषण के कारण होने वाली कार्डियोवस्कुलर हार्ट डिजीज समस्या से भी सुरक्षित रखता है।

Image result for जैतून का तेल

अलसी– अलसी में भारी मात्रा में फाइटोइस्ट्रोजेन्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाए जाते हैं। फाइटोइस्ट्रोजेन्स में एंटीऑक्सीडेंट प्रोपर्टीज मौजूद होती हैं, जो अस्थमा और प्रदूषण के कारण होने वाली एलर्जी से सुरक्षित रखती हैं। प्रदूषण से सुरक्षित रखने के लिए अलसी सबसे ज्यादा कारगर साबित होती है। इसलिए प्रदूषण के दुष्प्रभाव से बचना चाहते हैं तो रोजाना अलसी का सेवन जरूर करें।

Image result for अलसी

फली- दिल की समस्या से सुरक्षित रखने के लिए फली बहुत फायदेमंद होती है। इसमें प्रोटीन और फाइबर मौजूद होते हैं, जो सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं।

Image result for फली

हर्बल टी– वजन कम करने से लेकर सेहतमंद रहने तक हर्बल टी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होती है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालने में अहम भूमिका निभाते हैं।

Image result for हर्बल टी

इसके साथ ही यह प्रदूषण के करण होने वाली एलर्जी से भी सुरक्षित रखती है। आप घर पर भी तुलसी, अदरक, और नींबू के रस की मदद से हर्बल टी बना सकते हैं।

टमाटर– प्रदूषण के प्रभाव से बचने के लिए अपनी डाइट में टमाटर जरूर शामिल करें। इसमें लाइकोपीन नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो प्रदूषण के कारण होने वाली सांस संबंधी समस्या से सुरक्षित रखता है।

Image result for टमाटर

पानी– सांसों से शरीर में पहुंचे जहर को बाहर निकालने के लिए पानी बहुत जरूरी है। इसलिए पानी पीना नहीं भूलें। दिन में तकरीबन 4 लीटर तक पानी पीएं। घर से बाहर निकलते वक्त भी पानी पीएं। इससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई सही बनी रहेगी और वातावरण में मौजूद जहरीली गैसें अगर ब्लड तक पहुंच भी जाएंगी तो कम नुकसान पहुंचाएंगी।

Image result for पानी-

लहसुन- लहसुन में एंटीबायोटिक तत्व होते हैं, जो प्रदूषण से लड़ने की क्षमता बढ़ाते हैं। इसलिए लहसुन को भी अपनी डाइट में शामिल करें।

Image result for लहसुन

WeForNews

लाइफस्टाइल

चेहरे पर मुंहासे और बाल से महिलाओं में तनाव का खतरा

Published

on

महिलाओं के चेहरे पर मुंहासे और बाल वर्तमान में एक आम समस्या बन गए हैं इससे उनमें समाज में शर्म की स्थिति झेलने के साथ-साथ भावनात्मक तनाव और अवसाद की चपेट में आने का खतरा रहता है।

इस समस्या को पॉलीसिस्टिक ओवरियन सिन्ड्रोम (पीसीओएस) कहा जाता है, जिसका जल्दी ही उचित उपचार मिलने से भावनात्मक तनाव कम हो सकता है। पॉलीसिस्टिक ओवरी सिन्ड्रोम वास्तव में एक मेटाबोलिक, हार्मोनल और साइकोसोशल बीमारी है, जिसका प्रबंधन किया जा सकता है, लेकिन ध्यान नहीं दिये जाने से रोगी के जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। एक अध्यनन के मुताबिक, भारत में पांच में से एक वयस्क महिला और पांच में से दो किशोरी पीसीओएस से पीड़ित है। मुंहासे और हिरसुटिज्म पीसीओएस के सबसे बुरे लक्षण हैं।

पीसीओएस का प्रमुख लक्षण है हाइपरएंड्रोजेनिज्म, जिसका मतलब है महिला शरीर में एंड्रोजन्स (पुरुष सेक्स हॉर्मोन, जैसे टेस्टोस्टेरोन) की उच्च मात्रा। इस स्थिति में महिला के चेहरे पर बाल आ जाते हैं।

दिल्ली में ऑब्स्टेट्रिक्स एवं गायनेकोलॉजी की निदेशक व दिल्ली गायनेकोलॉजिस्ट फोरम (दक्षिण) की अध्यक्ष डॉ. मीनाक्षी आहूजा ने कहा, “त्वचा की स्थितियों, जैसे मुंहासे और चेहरे पर बाल को आम तौर पर कॉस्मेटिक समस्या समझा जाता है। महिलाओं को पता होना चाहिए कि यह पीसीओएस के लक्षण है और हॉर्मोनल असंतुलन तथा इंसुलिन प्रतिरोधकता जैसे कारणों के उपचार हेतु चिकित्सकीय सलाह लेनी चाहिए।”

मुंहासे और हिरसुटिज्म के उपचार के बारे में डॉ. मीनाक्षी आहूजा ने कहा, “पीसीओएस एक चुनौतीपूर्ण सिन्ड्रोम है, लेकिन जोखिमों का प्रबंधन करने के पर्याप्त अवसर हैं। पीसीओएस के बारे में बेहतर जागरूकता की आवश्यकता है, ताकि महिलाएं लक्षणों को पहचानें और सही समय पर सही मेडिकल सहायता लें।” 

उन्होंने कहा, “स्वस्थ जीवनशैली, पोषक आहार, पर्याप्त व्यायाम और उपयुक्त उपचार अपनाने से पीसीओएस के लक्षण नियंत्रित हो सकते हैं। पीसीओएस के कारण होने वाला हॉर्मोनल असंतुलन उपचार योग्य होता है, ताकि मुंहासे और हिरसुटिज्म को रोका जा सके। गायनेकोलॉजिस्ट से उपयुक्त मेडिकल मार्गदर्शन प्रभावी उपचार के लिए महत्वपूर्ण है।” 

देश में पांच से आठ प्रतिशत महिलाएं हिरसुटिज्म से पीड़ित हैं। हार्मोन के असंतुलन के कारण मुंहासे भी होते हैं और यह पीसीओएस का लक्षण है। यह दोनों लक्षण महिला की शारीरिक दिखावट को प्रभावित करते हैं और इनका उपचार न होने से महिला का आत्मविश्वास टूट जाता है और उनका अपने प्रति आदर कम होता है। मुंहासे से पीड़ित 18 प्रतिशत रोगियों में गंभीर डिप्रेशन और 44 प्रतिशत में एन्ग्जाइटी देखी गई है।

डॉ. आहूजा ने कहा, “पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं की भलाई सुनिश्चित करने के लिए समाज और परिवारों को साइकोलॉजिकल तनाव को समझने और साथ ही पूरे आत्मविश्वास के साथ दुनिया का सामना करने के लिए उन्हें सहयोग देने के लिए प्रयास करने की जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “अधिकांश महिलाओं को इन स्थितियों का बोध नहीं है और वे चिकित्सकीय मार्गदर्शन के बिना सामयिक उपचार लेती हैं, जिससे त्वचा खराब हो सकती है। यह जानना महत्वपूर्ण है कि अगर आप लक्षणों का उपचार नहीं करेंगे, तो मुंहासे और चेहरे पर बाल दोबारा आ जाएंगे।” 

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

देश में 60 फीसदी लोगों को पसंद है शाकाहार : रिपोर्ट

Published

on

food

देश में मधुमेह जैसे रोगों से पीड़ित लोगों की तादाद बढ़ने के बीच एक अच्छी खबर है कि ज्यादातर लोग अब स्वास्थ्यवर्धक भोजन पसंद करने लगे हैं।

एक सर्वेक्षण के अनुसार, 63 फीसदी भारतीय गोश्त की जगह वनस्पति से प्राप्त भोजन पसंद करते हैं। मतलब मांसाहारी के बजाए शाकाहारी लोगों की तादाद ज्यादा हो गई है।

ग्लोबल रिसर्च कंपनी इप्सोस की रिपोर्ट ‘फूड हैबिट्स ऑफ इंडियंस : इप्सोस अध्ययन’ में पाया गया कि भारतीय जानकारी के आधार पर पसंद करने लगे हैं। अब वे एक परंपरागत आदत में नहीं, बल्कि प्रयोग में विश्वास करने लगे हैं।

सर्वेक्षणकर्ताओं ने कहा, “हमें मालूम है कि भारत के लोगों को भोजन से लगाव होता है और तंदूरी चिकन, मटन, फिश और विविध प्रकार के मासांहारों को देखकर उनके लार टपकने लगता है। लेकिन रायशुमारी में 63 फीसदी भारतीयों का कहना है कि वे गोश्त के बदले वनस्पति से प्राप्त भोजन खाना पसंद करते हैं।”

रिपोर्ट के अनुसार, 57 फीसदी लोगों ने बताया कि वे जैविक खाद्य पदार्थ ग्रहण् करते हैं।

रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में 57 फीसदी लोगों का दावा है कि वे जैविक खाद्य पदार्थ ग्रहण करते हैं, जबकि विकसित देशों में जैविक खाद्य पदार्थ खाने वाले लोग कम हैं, जिनमें जापान में 13 फीसदी और 12 फीसदी ब्रिटिश हैं।

सर्वेक्षण पिछले साल 24 अगस्त से लेकर सात सितंबर तक 29 देशों में करवाया गया था। सर्वेक्षण में भारत में 1,000 नमूने लिए गए थे। 

–आईएएनएस

Continue Reading

लाइफस्टाइल

सर्दियों में नहीं होगी स्किन ड्राई, करें इन चीजों का इस्तेमाल

Published

on

Shower gel-
File Photo

सर्दी का मौसम आते ही हम ज्यादातर गर्म पानी से नहाना शुरू कर देते हैं। गर्म पानी से नहाने में भले ही आपको अच्छा फील होता हो, लेकिन इसका बूरा प्रभाव आपकी स्किन पर पड़ता है। जिससे आपकी स्किन से मॉइश्चर कम होने लगता है।

नतीजा स्किन ड्राई और खिंची-खिंची होने लगती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप गर्म पानी की जगह ठंडे पानी से नहाना शुरू कर दें। ड्राई स्किन की समस्याओं से निपटने के लिए आपको नहाने के दौरान कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखने की जरूरत है…

शावर जेल यूज करें

साबुन से तुलना करें तो शावर जेल सॉफ्ट और माइल्ड होता है। बहुत से शावर जेल ऐसे होते हैं जिसमें मॉइश्चराइजिंग एजेंट्स भी होते हैं जो आपकी स्किन को ड्राई होने से बचाते हैं जबकि साबुन आपकी स्किन को सर्दियों में ड्राई बना देता है।

बेसन और दूध का उबटन

आप चाहें तो हफ्ते में 1 या 2 बार नहाते वक्त शरीर की सफाई के लिए साबुन की जगह उबटन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए बेसन में थोड़ा सा दूध मिलाएं और स्मूथ कन्सिस्टेंसी वाला पेस्ट बना लें। इसे पूरे शरीर पर लगाएं और कुछ देर बाद रगड़कर धो लें।

नहाने से पहले तेल मालिश

सर्दी के मौसम में ड्राई स्किन से बचने के लिए तेल मालिश भी एक अच्छा ऑप्शन है। नहाने से 30 मिनट पहले नारियल तेल, जैतून का तेल या फिर बादाम के तेल से शरीर की मालिश करें। इससे आपकी स्किन ड्राई होने से बच जाएगी और आपको मॉइश्चराइज करने के लिए क्रीम लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

दूध से नहाएं

दूध से नहाने का मतलब यह नहीं कि आप एक बाल्टी भरकर दूध अपने शरीर पर उड़ेल लें। दूध में न सिर्फ मॉइश्चराइजिंग प्रॉपर्टी होती है बल्कि इससे स्किन की रंगत भी हल्की होती है और निखरती है। लिहाजा रूई को दूध में भिगोकर शरीर पर हल्का सा रगड़ें और फिर गर्म पानी से धो दें।

Milk

मॉइश्चराइजर लगाएं

जहां तक संभव हो माइल्ड साबुन यूज करें और नहाने के तुरंत बाद शरीर को मॉइश्चराइज रखने के लिए मॉइश्चराइजिंग लोशन लगाएं ताकि शरीर लोशन को आसानी से अब्जॉर्ब कर ले और आपकी स्किन ड्राई होने से बच जाए। साथ ही साथ सर्दियों के मौसम में बहुत देर तक गर्म पानी से नहाने से बचें क्योंकि ऐसा करने से भी आपकी स्किन ड्राई हो जाती है।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
sonia gandhi and rahul gandhi
राजनीति9 hours ago

राहुल-सोनिया 23 को अमेठी-रायबरेली दौरे पर

mukesh ambani
ब्लॉग10 hours ago

मुकेश अंबानी ने ‘डेटा औपनिवेशीकरण’ के खिलाफ अभियान का आह्वान किया

-ravi-shastri-ms-dhoni
खेल11 hours ago

महेंद्र सिंह धोनी की जगह कोई नहीं ले सकता : रवि शास्त्री

Tej Bahadur Yadav
शहर11 hours ago

बीएसएफ से बर्खास्त जवान का बेटा हरियाणा में मृत मिला

dhoni-batting
खेल12 hours ago

टीम का संतुलन मेरे लिए प्राथमिकता : धोनी

rahul gandhi
राजनीति12 hours ago

राहुल ने ममता को पत्र लिखा, रैली के लिए समर्थन जताया

manmohan-singh
राष्ट्रीय12 hours ago

गोवा की राज्यपाल ने परोक्ष रूप से मनमोहन सिंह पर साधा निशाना

Sonu Nigam
मनोरंजन13 hours ago

ईमानदार विचार रखने से मुझे कोई रोक न पाएगा : सोनू निगम

Election Commission
चुनाव13 hours ago

मार्च के पहले हफ्ते में लोकसभा चुनाव तिथि की हो सकती है ऐलान

व्यापार13 hours ago

शेयर बाजारों में मामूली तेजी, सेंसेक्स 13 अंक ऊपर

rahul gandhi
राजनीति3 weeks ago

‘फोटो खिंचवाने के बजाय खनिकों को बचायें मोदी’

Abhishek-Manu-Singhvi
राजनीति2 weeks ago

जेटली बने राफेल डिफेंसिव मिनिस्‍टर, 72% बढ़े बैंक फ्रॉड: सिंघवी

kapil sibal
राष्ट्रीय2 weeks ago

CBDT सर्कुलर ने नेशनल हेराल्ड मामले में सरकार को किया बेनकाब : कपिल सिब्बल

heart
लाइफस्टाइल3 weeks ago

सर्दियों में ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल

Kader-Khan-Twitter
मनोरंजन3 weeks ago

काबुल से कनाडा तक ऐसा रहा कादर खान का सफरनामा…

health Issue
Viral सच1 week ago

जहां 40 की उम्र में आता है बुढ़ापा

Siddhartha Nath
शहर2 weeks ago

राममंदिर पर शीघ्र निर्णय दे न्यायालय : सिद्धार्थ नाथ

टेक3 weeks ago

नया आईफोन अमेरिका में ज्यादा एंड्रायड यूजर्स को लुभा रही

Communal Violence
ब्लॉग3 weeks ago

चुनाव को सामने देख उत्तर प्रदेश में निकल पड़ा ब्रह्मास्त्र!

rahul-gandhi-pti
ब्लॉग3 weeks ago

राहुल प्रभावी प्रचारक, रणनीतिकार के तौर पर उभरे – 2018 in Retrospect

Priya Prakash
मनोरंजन4 days ago

प्रिया प्रकाश की फिल्म ‘श्रीदेवी बंग्लो’ का टीजर जारी

Makar Sankranti 2019
राष्ट्रीय4 days ago

कुंभ में पहला शाही स्नान शुरू

Game of Thrones
मनोरंजन5 days ago

Game of Thrones सीजन 8 का टीजर जारी

BIHAR
शहर6 days ago

वीडियो: देखें, बिहार में रंगदारों का आतंक

Ranveer Singh-
मनोरंजन1 week ago

रणवीर की फिल्म ‘गली बॉय’ का ट्रेलर’ रिलीज

Nageshwar Rao
राष्ट्रीय2 weeks ago

आंध्र यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर बोले- टेस्ट ट्यूब बेबी थे कौरव

Vikram Saini
राजनीति2 weeks ago

बीजेपी विधायक बोले- ‘असुरक्षित महसूस करने वालों को बम से उड़ा दूंगा’

Ranveer Singh-
मनोरंजन2 weeks ago

फिल्म ‘गली बॉय’ का फर्स्ट लुक जारी

Gazipur Cops Killed
राष्ट्रीय3 weeks ago

पीएम मोदी की जनसभा से लौट रहे भाजपा समर्थकों की गाड़ियों पर पथराव, कॉन्स्टेबल की मौत

isis
शहर3 weeks ago

श्रीनगर की मस्जिद में लहराया ISIS का झंडा

Most Popular