बंगाल : विरोध प्रदर्शन में हिंसा , प्रदर्शनकारी की मौत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

शहर

बंगाल : विरोध प्रदर्शन में हिंसा , प्रदर्शनकारी की मौत

Published

on

कोलकाता, 17 जनवरी | पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के भांगर ब्लॉक में प्रस्तावित विद्युत ग्रिड परियोजना के खिलाफ चल रहा विरोध प्रदर्शन मंगलवार को हिंसक रूप अख्तियार कर लिया। शाम को पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुए संघर्ष में गोली लगने से एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई, जबकि दूसरा घायल हो गया है। राजनीतिक हिंसा के अपने इतिहास के लिए कुख्यात भांगर पिछले सप्ताह राज्य सरकार द्वारा 16 एकड़ कृषि भूमि जबरन अधिग्रहित किए जाने के बाद से उबल रहा है। यह कृषि भूमि भांगर-2 ब्लॉक के खमरैत, माछी भांगा, टोना और पदमपुकुर गांवों में फैली हुई है। यह जमीन पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पीजीसीआईएल) के लिए अधिग्रहीत की गई है।

आक्रोशित प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ उस समय जमकर झड़प हुई, जब पुलिस ने पदमपुकुर गांव में घुसने की कोशिश की। कड़े प्रतिरोध के कारण पुलिस ने बल प्रयोग किया।

घायल प्रदर्शनकारी को ग्रामीणों ने अपने कब्जे में ले लिया और बाद में उसे कोलकाता के आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

संघर्ष की स्थिति तब पैदा हुई, जब मंगलवार अपराह्न् त्वरित कार्रवाई बल की एक टुकड़ी के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल ने गांव में प्रवेश करने कोशिश की।

इसके बाद पुलिस वाहनों पर चारों तरफ से पथराव शुरू हो गया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

पुलिस ने कहा कि ग्रामीणों ने पुलिस के एक वाहन को जला दिया, जबकि दो अन्य पुलिस वाहन को एक तालाब में धकेल दिया।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि भूमि मालिकों की सहमति के बगैर कोई भूमि अधिग्रहित नहीं की जाएगी, और जरूरत पड़ी तो भांगर में प्रस्तावित पॉवर ग्रिड अन्यत्र स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

घटना के बाद बनर्जी ने ट्वीट किया, “यदि लोग जमीन नहीं देना चाहते तो भूमि अधिग्रहण नहीं होगा। यदि जरूरत पड़ी तो प्रस्तावित पॉवर ग्रिड कहीं और स्थानांतरित कर दिया जाएगा।”

इसके पहले पुलिस द्वारा सोमवार रात की गई कथित प्रताड़ना के विरोधस्वरूप लगभग 10000 ग्रामीण लाठी-डंडे के साथ जमा हो गए और उन्होंने गांव की ओर जाने वाले मार्ग को विभिन्न स्थानों पर पेड़ की शाखाएं गिराकर जाम कर दिया।

हथिराबंद ग्रामीणों ने निर्माणाधीन पॉवर ग्रिड के पास तैनात पुलिसकर्मियों को घेर लिया और उन्हें गांव से चले जाने को कहा। उसके बाद पुलिस ने इलाके पर नियंत्रण करने के लिए प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

प्रदर्शनकारियों ने त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) और पुलिस पर ग्रामीणों को आतंकित करने और रात के अंधेरे में उनके घरों में घुसने का भी आरोप लगाया।

माछीभांगा गांव के एक निवासी ने कहा, “आरएएफ और पुलिस बेरहमी से हमें पीट रही है। वे हमें आतंकित करने की कोशिश कर रहे हैं। यहां तक कि महिलाओं और बच्चों तक को नहीं बख्शा जा रहा है। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।”

भूमि अधिग्रहण विरोधी आंदोलन में एकजुट प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि राज्य के विद्युत मंत्री सोवनदेब चटर्जी भांगर आएं और पॉवर ग्रिड परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करें।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “सरकार कह रही है कि हमारे गांव में पावर ग्रिड बनाने की योजना रद्द कर दी गई है, लेकिन निर्माण कार्य फिर क्यों जारी है? बिजली मंत्री को यहां आकर परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करनी होगी।”

राज्य के बिजली मंत्री चटर्जी ने हालांकि मंगलवार अपराह्न् कहा कि उन्होंने पावर ग्रिड का काम रोकने का आदेश दे दिया है और उन्होंने गांवों में बाहर के लोगों द्वारा हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है।

चटर्जी ने कहा, “पावर ग्रिड का निर्माण कार्य फिलहाल रोक दिया गया है। लेकिन ग्रामीणों का एक गुट अभी भी प्रदर्शन कर रहा है। ऐसा लगता है कि प्रदर्शनकारियों का कोई और मकसद है। वहां बाहरी लोग और अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता हैं, जो हिंसा भड़का रहे हैं।”

–आईएएनएस

शहर

रिश्तेदार ने लॉकडाउन में घर से निकाला, अजनबी आईपीएस ने अपनों से मिलवाया मासूम

Published

on

Delhi Police


नई दिल्ली, 25 मई (आईएएनएस)
| माता-पिता जिसके पास 13 साल के बच्चे को विश्वास करके छोड़ गए थे, उसने लॉकडाउन में बच्चों को निकाल बाहर किया। बच्चा कई दिन तक भूखा प्यासा पार्क में रहा। कुत्तों को पार्क में रोटी खिलाने पहुंची एक महिला की नजर जब बच्चे पर पड़ी तो मामले का भांडा फूटा। फिहलाह उड़ीसा कैडर के एक आईपीएस अधिकारी की मदद से अब बच्चा माता-पिता से मिल चुका है। 

घटना दिल्ली के द्वारका इलाके की है। बच्चे के बारे में उड़ीसा कैडर के जिस आईपीएस अधिकारी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था उनका नाम अरुण बोथरा है। बकौल अरुण बोथरा, बच्चा कई दिन तक पार्क की बेंच पर ही लेटा-बैठा रहा। जब पार्क में कुत्तों को रोटी खिलाने जाने वाली महिला की नजर बच्चे पर पड़ी, तो वे उसे खाना खिलाती रहीं।

उसके बाद एक एनजीओ की और सोशल मीडिया की मदद ली गई। जिसमें कामयाबी मिल गई। जैसे ही परिवार को पता चला वो बच्चे से मिलने दिल्ली पहुंच गया। हालांकि, बच्चे का परिवार समस्तीपुर में था। किसी आईपीएस अधिकारी संजय ने बच्चे के परिवार को पटना पहुंचाने का इंतजाम किया। फिलहाल बच्चा और परिवार अब साथ साथ हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

सूरत से नवादा जा रही ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेन’ में महिला ने दिया बच्चे को जन्म

Published

on

आगरा: श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू होने के बाद से ट्रेनों में कई बच्चों का जन्म हो चुका है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है सूरत से नवादा जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में। रेलवे अधिकारियों को सूचना मिली कि एक महिला प्रसव पीड़ा से है। सूरत से नवादा जा रही इस ट्रेन को आगरा स्टेशन पर रोक कर सुरक्षित डिलीवरी करायी गयी।

इस बात की जानकारी रेलवे ने ट्वीट करके दी है। रेलवे के मुताबिक, रेल अधिकारियों को सूरत से नवादा जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में एक महिला यात्री को प्रसव पीड़ा की सूचना मिली। आगरा रेलवे स्टेशन पर डॉ. पुल्किता ने तुरंत गाड़ी पर पहुंचकर ट्रेन में ही सुरक्षित डिलीवरी कराई। रेलवे ने बताया है कि मां एवं बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

गौरतलब है कि इस से पहले आठ मई को गुजरात के जामनगर से चली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में भी एक महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया था। 13 मई को अहमदाबाद-फैजाबाद श्रमिक स्पेशल ट्रेन में आरपीएफ कर्मियों की सहायता से एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया था। कानपुर में उसे चिकित्सकीय देखभाल मुहैया करायी गई थी।

ट्रेनों में सबसे अधिक सात बच्चों का जन्म पश्चिम मध्य रेलवे में हुआ है। वहीं तीन-तीन बच्चों के जन्म दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे और उत्तर मध्य रेलवे में हुए हैं। मध्य रेलवे में दो और पूर्व मध्य रेलवे, उत्तर रेलवे, पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे, दक्षिण मध्य रेलवे, उत्तर पूर्व रेलवे और पश्चिम रेलवे में एक-एक बच्चे का जन्म हुआ है।

–आईएएएनएस

Continue Reading

शहर

केजरीवाल ने एम्स के पूर्व डॉक्टर के निधन पर शोक जताया

Published

on

नई दिल्ली: एम्स के मेडिसिन विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. जे.एन. पांडेय का कोरोनावायरस के कारण निधन होने के एक दिन बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शोक व्यक्त किया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “डॉ. पांडेय के परिवार के प्रति हरी संवेदना।

लंबे समय तक सेवा देने के बाद वह एम्स से सेवानिवृत्त हुए थे, लेकिन उन्होंने दूसरे अस्पताल में तब तक काम करना जारी रखा जब तक कि इस सप्ताह कोरोनावायरस के कारण दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से उनका निधन नहीं हो गया। दिल्ली आपको सलाम करता है सर। आपकी आत्मा को शांति मिले।”

एक पल्मोनोलॉजिस्ट और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के मेडिसिन विभाग के पूर्व अध्यक्ष पांडेय मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव निकले थे। वह 79 साल के थे और उनमें कोरोना के हल्के लक्षण थे। उनका उनके आवास पर निधन हो गया।

वह वर्तमान में दक्षिण दिल्ली स्थित सीताराम भारतीय इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड रिसर्च से जुड़े थे।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Coronavirus
स्वास्थ्य3 hours ago

बिहार: कोरोना के 231 नए मरीज, कुल संक्रमित 2968

Supreme Court
राष्ट्रीय4 hours ago

सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने की मांग वाली याचिका खारिज

coronavirus
स्वास्थ्य4 hours ago

गौतमबुद्धनगर में कोरोना के 3 नए मामले, कुल संख्या 362

Flood in Northeastern States
राष्ट्रीय5 hours ago

पूर्वोत्तर राज्यों में भूस्खलन-बाढ़ से 3 की मौत, 2.50 लाख लोग प्रभावित

coronavirus infection
स्वास्थ्य5 hours ago

मप्र में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 7000 के पार

Supreme Court
राष्ट्रीय5 hours ago

लॉकडाउन में पूर्ण वेतन देने के खिलाफ अर्जियों पर तुरंत ध्यान दें मोदी सरकार: सुप्रीम कोर्ट

Kamal Nath
राजनीति5 hours ago

मप्र में किसान की मौत पर कमल नाथ ने शिवराज पर बोला हमला

supreme court
राष्ट्रीय5 hours ago

शरजील की याचिका पर SC ने 4 राज्यों को जारी किया नोटिस

Coronavirus
स्वास्थ्य6 hours ago

जम्मू-कश्मीर: कोरोना के 91 नए मामले, कुल संक्रमित 1759

Supreme Court
राष्ट्रीय6 hours ago

सुप्रीम कोर्ट ने प्रवासियों के लिए उठाए कदम पर सरकारों को गिनाई खामियां

Multani Mitti-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

चेहरे के लिए इतनी फायदेमंद होती है मुल्तानी मिट्टी…

pm modi cm meeting
ओपिनियन3 weeks ago

धन्य है गोदी मीडिया जिसने प्रधानमंत्री के बयान को भी ‘अंडरप्ले’ कर दिया!

Modi Trump
ओपिनियन3 weeks ago

ट्रम्प को अपना सिंहासन डोलता दिख रहा है, भारत भी अछूता नहीं रहने वाला

Narendra Modi
ब्लॉग3 weeks ago

अद्भुत है मोदीजी की ‘कष्ट-थिरैपी’!

Migrant Workers in Train
ब्लॉग3 weeks ago

सम्पन्न तबके की दूरदर्शिता के बग़ैर पटरी पर नहीं लौटेगी अर्थव्यवस्था

Sonia Gandhi Congress Prez
ओपिनियन3 weeks ago

क्या काँग्रेस के लिए टर्निंग प्वाइंट बनेगी ग़रीबों का रेल-भाड़ा भरने की पेशकश?

मनोरंजन4 weeks ago

डीडी नेशनल पर रविवार से प्रसारित होगा लोकप्रिय धारावाहिक श्रीकृष्णा

Rs 2000 Note
व्यापार3 weeks ago

कर्नाटक में बंद प्रभावित सेक्टरों के लिए 1610 करोड़ रुपये का राहत पैकेज

wheat-min
व्यापार3 weeks ago

पंजाब में गेहूं की खरीद 100 लाख टन के पार

Swine Flu
राष्ट्रीय3 weeks ago

कोरोना संकट के बीच भारत में पहली बार खतरनाक अफ्रीकी फ्लू की दस्तक

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय3 weeks ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर1 month ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य1 month ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति1 month ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन1 month ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय2 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन2 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन3 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन3 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति3 months ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

Most Popular