कश्मीर पर जितेन्द्र सिंह ने कहा देश की संप्रभुता से कोई समझौता नहीं होगा | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

कश्मीर पर जितेन्द्र सिंह ने कहा देश की संप्रभुता से कोई समझौता नहीं होगा

Published

on

all-party-meet

कश्मीर को लेकर आज दिल्ली में हुई ऑल पार्टी मीटिंग में कोई ख़ास नतीजा नहीं निकल सका। गृह मंत्रालय ने बैठक में शामिल सर्वदलीए नेताओं को एक प्रजेंटेशन भी दिया। बैठक के बाद प्रधानमत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय संप्रभुता पर कोई समझौता नहीं होगा।

साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर की समस्या को सुलझाने के लिए सभी पक्षों से बातचीत करने को तैयार है। इस बात पर सभी दलों के नेताओं ने सहमति जताई है कि कश्मीर की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नही होगा। जितेन्द्र सिंह ने कहा कि सभी पार्टियों ने लोगों से अपील की है कि वो हिंसा के रास्ते को छोड़े।

गृह मंत्रालय की प्रेजेंटशन के दौरान कश्मीर की मौजूदा हालात को लेकर अलग-अलग पार्टियों का नजरिया बताया गया। इसमें सिविलयन एरिया में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (अफ्स्पा) की समीक्षा की भी बात उठाई गई और साथ ही कुछ पार्टियों ने कश्मीर में अर्धसैनिक बलों और सैनिकों की संख्या घटाने का भी सुझाव दिया। हालांकि कुछ पार्टियों का ये भी मानना है कि महबूबा मुफ्ती की कश्मीर हिंसा से निपटने में नाकाम रही।

ऑल पार्टी मीटिंग से पहले घाटी को लेकर आगे की रणनीति पर विशेष चर्चा करने के लिए राजनाथ सिंह आर्मी चीफ दलबीर सिंह सुहाग से भी मुलाकात की।

अलगाववादियों के पंख कतरने को लेकर सरकार हुई सख़्त

इससे पहले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को मिल रही तमाम सुख सुविधाएं वापस लिए जाने के मुद्दे पर कहा है कि आतंकियों और अलगाववादियों को एक ही चश्मे से देखने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। मोदी सरकार अलगाववादियों के खिलाफ सख्ती से निपटने के मूड में दिख रही है।

आपको बता दे कि घाटी में अब तक कतरीबन 74 लोगों की मौत हो चुकी है औऱ तकरीबन 1200 लोग घायल हो चुके है। ये पहला मौका नहीं है जब घाटी में इस तरह की हिंसा हुई है इससे पहले साल 2010 में इस तरह की घटना हुई थी। तब 120 लोग पुलिस और अर्धसैनिक बलों की गोलियों से मारे गए थे।

 

wefornews bureau

राष्ट्रीय

विचारधाराओं की लड़ाई है 2019 का लोकसभा चुनाव: राहुल

Published

on

Rahul Gandhi

कलबुर्गी 18 मार्च : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव को विचारधाराओं की लड़ाई बताते हुए जनता से अपील की कि वे यह ध्यान रखें कि कांग्रेस किसी अन्य पार्टी (भारतीय जनता पार्टी-भाजपा) से नहीं बल्कि एक विचारधारा से लड़ रही है।

श्री गांधी ने सोमवार को यहां आयोजित ‘परिवर्तन रैली’ को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि देश को केवल एक ही व्यक्ति चलाए। उन्होंने कहा, “ श्री मोदी ने कहा था कि जब वह सत्ता में आए थे तो ‘हाथी सो रहा था। क्या वह यह जतलाना चाहते हैं कि उनके प्रधानमंत्री बनने से पहले देश सो रहा था और कुछ भी नहीं किया जा रहा था। क्या यह सच है ? ”

उन्होंने कहा, “ श्री मोदी गंदी और फूट डालने की राजनीति कर रहे हैं। वह अल्पसंख्यक समुदायों, विशेषकर दलितों पर अत्याचार कर रहे हैं। यह सभी को याद है कि दलित छात्र रोहित वेमुला आत्महत्या करने के लिए क्यों विवश हुआ।”

उन्होंने कहा कि एक ओर देश में 15 ऐसे सबसे अमीर उद्यम हस्तियां हैं , जिन्होंने देश के अधिकांश धन इकट्ठा किया है तथा निजी स्कूलों, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और यहां तक कि चार्टर्ड विमानों तक उनकी आसान पहुंच है। दूसरी तरफ शेष देश है जो बुनियादी आवश्यकताओं के लिए भी संघर्ष कर रहा है।

Continue Reading

ब्लॉग

सेना ने माना, आईएलएंडएफएस बांड में फंसा एजीआईएफ का पैसा

Published

on

By

Indian Army insurance ILFS bonds

नई दिल्ली, 18 मार्च | भारतीय सेना जो पहले यह मानने को तैयार नहीं थी कि उनके कल्याण की निधि का पैसा आईएनएंडएफएस के विषैले बांड में फंस गया है, जबकि आईएनएस इस बात को बार-बार दोहराता रहा, लेकिन अब वह स्वीकार करती है कि भारत की एकमात्र निष्पक्ष न्यूज वायर का विश्लेषण सही है।

सेना के पीआरओ ने आखिरकार सवालों का जबाव देते हुए कहा कि आर्मी ग्रुप इंश्योरेंस फंड (एजीआईएफ) के काफी सख्त निवेश नियम हैं। देश के अत्यंत सम्मानित व प्रख्यात वित्तीय शख्सियतों की सलाह पर निवेश किया जाता है। इससे पहले सेना के पीआरओ लेफ्टिनेंट कर्नल मोहित वैष्णव मसले को उलझाते रहे और जवाब नहीं दिए थे। सेना का हालिया बयान आईएएनएस के तथ्यों के साथ इस प्रकार है :

एजीआईएफ का वर्षो से रिटर्न निर्धारित जोखिम लाभ सांचे में काफी बेहतर रहा। आईएएनएस ने इसपर कभी संदेह नहीं किया।

एजीआईएफ को 200 से कोई एनपीए नहीं रहा। इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएनएंडएफएस) ट्रिपल ‘ए’ रेटेड कंपनी थी और जब एजीआईएफ का निवेश हुआ उस समय उसे केंद्र व राज्य सरकारों दोनों की मदद मिली थी। कंपनी अगस्त 2018 में अचानक चूक के कारण ट्रिपल ‘ए’ से नीचे आ गई।

आईएएलएंडएफएस के 91,000 करोड़ के कर्ज में बैंकों का 63 फीसदी, म्यूचुअल फंड का तीन फीसदी से ज्यादा और बीमा कंपनियों, ईपीएफ वे पेंशन निधि का पांच फीसदी से ज्यादा फंस गया है।

बैंक/एएमसी/पेंशन निधि के मुकाबले एजीआईएफ की रकम अत्यल्प (0.5 फीसदी से कम) है। (सारा कुछ सार्वजनिक रूप से उपलब्ध है और आईएएनएस का कहना है कि विषैले आईएलएंडएफएस बांड में एजीआईएफ की 210 करोड़ रुपये की रकम फंस गई है।)

Continue Reading

राष्ट्रीय

इंग्लैंड : नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

Published

on

By

NIRAV MODI

लंदन/नई दिल्ली, 18 मार्च | लंदन की एक अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

भारत में वह बैंक धोखाधड़ी मामले में आरोपी है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सूत्रों ने दिल्ली में कहा कि भारत सरकार ने नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए आवेदन दिया हुआ है। मोदी इन दिनों लंदन में है।

Continue Reading
Advertisement
Rahul Gandhi
राष्ट्रीय9 mins ago

विचारधाराओं की लड़ाई है 2019 का लोकसभा चुनाव: राहुल

Indian Army insurance ILFS bonds
ब्लॉग39 mins ago

सेना ने माना, आईएलएंडएफएस बांड में फंसा एजीआईएफ का पैसा

utrecht
अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

नीदरलैंड : ट्राम में ‘आतंकी हमला’, गोलीबारी में 3 की मौत

congress logo
चुनाव1 hour ago

रूपाणी के घर भाजपा की बैठक चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन : कांग्रेस

NIRAV MODI
राष्ट्रीय1 hour ago

इंग्लैंड : नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

Abdul Mannan and Sujan Chakrabarty
चुनाव1 hour ago

वाम दलों ने खुले गठबंधन से इनकार कर दिया : बंगाल कांग्रेस

pramod-sawant-min
राजनीति4 hours ago

गोवा के नए मुख्यमंत्री रात 11 बजे शपथ लेंगे

Election Commission
चुनाव4 hours ago

पहले चरण के चुनाव के लिए आयोग की अधिसूचना जारी

Naxalite
राष्ट्रीय5 hours ago

दंतेवाड़ा में आईडी ब्लास्ट, 5 सीआरपीएफ जवान घायल

व्यापार5 hours ago

सेंसेक्स 71 अंक ऊपर

green coconut
स्वास्थ्य3 weeks ago

गर्मियों में नारियल पानी पीने से होते हैं ये फायदे

chili-
स्वास्थ्य4 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

sugarcanejuice
लाइफस्टाइल3 weeks ago

गर्मियों में गन्ने का रस पीने से होते है ये 5 फायदे…

indus water treaty
ब्लॉग4 weeks ago

सिन्धु का पानी तो भारत सिर के बल खड़े होकर भी नहीं रोक सकता!

indus water treaty
ओपिनियन4 weeks ago

पाकिस्तान को पानी रोकने पर विशेषज्ञों की राय बंटी

Rafale deal scam
ब्लॉग4 weeks ago

दिग्गज मिसाइल निर्माता कंपनी ईडी के घेरे में

Rafale
ब्लॉग4 weeks ago

विदेशी कंपनियां उठा रही हैं गलाकाट घरेलू रक्षा स्पर्धा का फायदा – तहकीकात

pulwama terror attack
ब्लॉग4 weeks ago

जवानों के लिए खूनी साबित हुआ फरवरी 2019

ILFS and Postal Insurance Bond
ब्लॉग3 weeks ago

IL&FS बांड से 47 लाख डाक जीवन बीमा प्रभावित

Momo
लाइफस्टाइल4 weeks ago

मोमोज खाने से आपकी सेहत को होते है ये नुकसान

Most Popular