Connect with us

शहर

इंदौर के हिंगोट युद्ध में 36 घायल, 3 की हालत गंभीर

हिंगोट हिंगोरिया नामक पेड़ में फलने वाला नारियल जैसा कठोर, लेकिन आकार में नींबू जैसा छह से आठ इंच लंबा फल होता है।

Published

on

traditional Hingot war

इंदौर, 20 अक्टूबर | मध्यप्रदेश के इंदौर के गौतमपुरा क्षेत्र में वर्षो से चली आ रही परंपरा निभाने के लिए दिवाली के अगले दिन शुक्रवार की शाम पुलिस और प्रशासन की देखरेख में हिंगोट युद्ध शुरू किया गया, जिसमें 36 लोग घायल हो गए। इनमें से तीन की हालत गंभीर है। इस युद्ध का हजारों लोगों ने आनंद लिया। देपालपुर के अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ,पी) विक्रम सिंह ने आईएएनएस को बताया कि हिंगोट युद्ध में कुल 36 लोग घायल हुए, जिनमें से 33 को सामान्य चोटें आईं, वहीं तीन को ज्यादा चोटें लगीं, जिन्हें इंदौर रेफर किया गया है।

हिंगोट हिंगोरिया नामक पेड़ में फलने वाला नारियल जैसा कठोर, लेकिन आकार में नींबू जैसा छह से आठ इंच लंबा फल होता है। इसे अंदर से खोखला कर, उसमें बारूद भर दिया जाता है। एक छेद में बत्ती लगा दी जाती है और दूसरे छेद को मिट्टी से बंद कर दिया जाता है। बत्ती में आग लगाते ही हिंगोट शोला बनकर दहकने लगता है। हिंगोट को बांस की कमानी (पतली लकड़ी) से जोड़कर फेंका जाता है, ताकि निशाना सीधा दूसरे दल पर लगे।

शुक्रवार को सूर्यास्त होते ही देवनारायण मंदिर के सामने के मैदान का नजारा बदल गया। यहां तुर्रा और कलंगी दल ने एक-दूसरे पर हिंगोट चलाना शुरू कर दिया। दोनों ओर से हिंगोट छोड़े जा रहे थे। जहां एक दल दूसरे को मात देने की कोशिश कर रहा था, वहीं अपनी सुरक्षा के भी पूरे इंतजाम किए हुए थे। इस युद्ध का हजारों लोगों ने आनंद लिया। दर्शकों की सुरक्षा के मद्देनजर मैदान के चारों ओर फेंसिंग भी की गई थी।

देपालपुर के अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ,पी) विक्रम सिंह ने आईएएनएस को बताया कि सुरक्षा और चिकित्सा के पूरे इंतजाम किए गए।

इस युद्ध की शुरुआत कैसे और कब हुई, इसका कहीं उल्लेख नहीं मिलता, मगर माना जाता है कि यह युद्ध अपनी ताकत और कौशल प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

इस युद्ध के दौरान पुलिस के लिए सुरक्षा बड़ी चुनौती होती है, क्योंकि यहां हजारों की संख्या में लोग दर्शक के तौर पर पहुंचते हैं, तो दूसरी ओर युद्ध में हिस्सा लेने वाले कई प्रतिभागी शराब के नशे में होते हैं।

इंदौर के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरि नारायण चारी मिश्रा ने आईएएनएस को बताया कि गौतमपुरा में होने वाले हिंगोट युद्ध के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम किए गए। हेलमेट सहित अन्य सुरक्षा सामग्री के साथ 250 जवानों की तैनाती रही, मैदान के चारों ओर फेंसिंग कराई गई, ताकि दर्शकों को किसी तरह का नुकसान न हो। इसके अलावा एम्बुलेंस व चिकित्सा सेवा का भी इंतजाम किया गया।

उन्होंने कहा कि यह परंपरा है, इसे रोका नहीं जा सकता। मगर कोई गंभीर हादसा न हो, इसके लिए लोगों को समझाया गया है।

वर्षो से हर साल हिंगोट युद्ध देख रहे हीरा लाल ने कहा कि यह युद्ध बड़ा रोमांचकारी होता है। इसकी तैयारी लगभग एक माह पहले से शुरू हो जाती है। तुर्रा और कलंगी, दोनों दलों के सदस्य पूरी तैयारी कर आते हैं और दोनों दलों की कोशिश जीत हासिल करने की रहती है।

युद्ध खत्म होने पर दोनों दलों के लोग एक-दूसरे से गले मिले और अपने घरों को लौट गए।

–आईएएनएस

शहर

दिल्ली हाफ मैराथन: इथियोपियाई धावकों ने मारी बाजी

Published

on

Delhi Half Marathon
photo credit (ANI)

दिल्ली हाफ मैराथन में रविवार को इथियोपिया के धावकों का जलवा देखने को मिला। एलीट पुरुष और महिला दोनों का खिताब इथियोपिया के नाम रहा। एलीट पुरुष वर्ग में अंदमाक बेलिहू ने बाजी मारी तो महिलाओं में इस साल पहली बार इस मैराथन में हिस्सा ले रहीं सहाये गेमेचु ने खिताब अपने नाम किया। सहाये ने कोर्स रिकार्ड के साथ पहला स्थान हासिल किया।

पिछले साल एलीट पुरुष वर्ग में दूसरे स्थान पर रहने वाले बेलिहू ने इस बार कमी पूरी की और 59 मिनट 17 सेकेंड में दूरी तय करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

जीतने के बाद बेलिहू ने कहा, “पछली बार में जीत नहीं पाया। इस साल मैंने काफी मेहनत की और जीतने के लिए यहां आया। खुश हूं कि मैं इस बार खिताब जीत सका।”

वहीं दूसरे स्थान पर भी इथियोपिया के धावक अमदवर्क वालेलेगन रहे, जिन्होंने 59 मिनट 21 सेकेंड का समय निकाला। यह उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। तीसरे स्थान पर केन्या के डेनियल किपचुम्बा रहे। उन्होंने 59 मिनट 48 सेकेंड का समय निकाला।

शुरूआत में बेलिहू पीछे थे। उन्होंने धीरे-धीरे गति पकड़ी। बीच में वह कुछ देर तक पीछे भी रहे लेकिन बेलिहू ने आखिरी तकरीबन पांच किलोमीटर में बढ़त ले ली थी। इस बीच वेलेलेगन पीछे से आगे आ गए और डेनियल ने भी अंतिम पलों में अपने आप को आगे ही रखा। यह दोनों हालांकि काफी कोशिश के बाद भी बेलिहू और अपने बीचे के अंतर को कम नहीं कर पाए।

वहीं, महिलाओं की रेस में काफी कुछ देखने को मिला। एक घंटे छह मिनट 56 सेकेंड के साथ दूसरा स्थान हासिल करने वाली विश्व रिकार्ड धावक केन्या की जॉसलिने जेपकोस्गी और इथियोपिया की तिरुनेश डिबाबा ने रेस की शानदार शुरुआत की।

इन तीनों में से सिर्फ जेपकोस्गी ने अपनी लय को बनाए रखा। बीच में वह पीछे भी रहीं लेकिन समय पर वापसी करते हुए शीर्ष तीन में खत्म करने में सफल रही।

इस बीच डिबाबा ने दो बार बढ़त ले ली थीए लेकिन अंतिम कुछ मिनटों में वह पीछे रह गईं और शीर्ष तीन से बाहर होकर पदक से चूक गईं। तीसरा स्थान केन्या की जेइनबेर यमेरे के नाम रहा। विजेता सहाय ने कहा, “यहां काफी बड़ी-बड़ी खिलाड़ी आई हैं। यहां मैं पहली बार आई हूं मैं सिर्फ कोशिश करना चाहती थी।”

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

पत्‍थर मारकर बुजुर्ग की हत्‍या करने वाले बंदर के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Published

on

Monkey
प्रतीकात्मक तस्वीर

देश के भिन्न-भिन्न इलाकों से बंदरों द्वारा लोगों पर हमले किए जाने की घटनाएं सामने आती हैंं। अब एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के बागपत से सामने आया है जहां बंदर ने एक बुजुर्ग व्यक्ति को जान से मार दिया। बुजुर्ग बंदर से बचने का लगातार प्रयास करते रहे, पर बंदर एक के बाद एक पंजा उनपर बरसाता रहा। अब पुलिस ने बंदर के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज कर लिया हैै।

जानकारी के मुताबिक, मामला यूपी स्थित बागपत के दोघट थाना क्षेत्र का है। यहां 72 साल के एक बुजुर्ग व्यक्ति हवन के लिए लकड़ियां लेने जा रहे थे कि तभी अचानक खूंखार बंदर ने जानलेवा हमला कर दिया। मृतक की पहचान धर्मवीर सिंह के तौर पर हुई है। वह जब हवन की लकड़ी लेने निकले तो सूखी लकड़ी इकट्ठा करते समय पेड़ पर बैठे बंदर ने उनपर पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। पत्थरों की लगातार बरसात के कारण सीने और सिर पर गंभीर चोट आने से बुजुर्ग ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

पुलिस का कहना है मृतक बुजुर्ग के परिवार ने बंदर को आरोपी बताया है और मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस टीम मामले की जांच में जुट गई है। ग्रामीणों का आरोप है कि इलाके में मौजूद बंदरों ने उनकी जिंदगी नर्क बना दी है। इलाके में उनका चैन की सांस लेना और जीवन व्यतीत करना मुश्किल कर दिया है।

गांव वालों का कहना है धर्मपाल सिंह की मृत्यु का भले ही बंदरों के आतंक का सबसे खौफनाक मामला हो लेकिन बंदरों ने मौजूदा गांव वालों की जिंदगी भी नर्क बना रखी है। इस गंभीर मामले का कोई हल नजर नहीं आ रहा है और न ही अभी तक किसी ने इस पर कोई कार्रवाई की है।

WeForNews

Continue Reading

शहर

अमृतसर हादसे पर पंजाब में राजकीय शोक

Published

on

Amritsar Train
इस हादसे में कम से कम 60 लोगों की मौत हुई।

अमृतसर में हुए रेल हादसे पर पंजाब सरकार ने शनिवार को राजकीय शोक दिवस घोषित किया था। सूबे के सभी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान बंद रहे। मुख्यमंत्री कैप्‍तान अमरिंदर सिंह ने मृतकों के रिश्‍तेदारों और घायलों से मिले।उन्‍होंने इस दौरान मामले न्‍यायिक जांच की घोषणा की और आदेश दिया कि जांच रिपोर्ट चार हफ्तों के अंदर पेश की जाये।

बता दें अमृतसर में शुक्रवार की रात एक भयावह हादसे में रावण दहन देख रहे लोग तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आ गए, जिससे 59 लोगों की मौत और 57 लोग घायल हुये।

अमृतसर के जोड़ा फाटक इलाके में रेलवे ट्रैक के नजदीक रावण का पुतला जलाया जा रहा था। जैसे ही पुतले में पटाखे का विस्फोट होना शुरू हुआ और आग की लपटें तेज हुईं, लोग रेल पटरी पर चले गए। कुछ लोग रावण दहन देखने के लिए पहले से ही रेल पटरी पर खड़े थे।

इसी दौरान पठानकोट से अमृतसर जा रही ट्रेन तेज गति से आई और बड़ी तादाद में लोगों को अपनी चपेट में ले लिया।

बताया जाता है कि रावण दहन के दौरान पटाखे जलने की वजह से लोग ट्रेन की सीटी की आवाज नहीं सुन सके।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Neetu Chandra
मनोरंजन13 mins ago

पटना पाइरेट्स की कम्युनिटी एंबेसडर बनीं नीतू चंद्रा

राष्ट्रीय48 mins ago

अमृतसर रेल हादसे के बाद ट्रैक क्लियर करने पहुंची पुलिस टीम पर पथराव

anu maik-
मनोरंजन53 mins ago

MeToo : अनु मलिक इंडियन आइडल शो से बाहर

ind vs wi
खेल1 hour ago

इंडीज को दिया पहला झटका, चंद्रपॉल आउट

sruthi hariharan AND arjun sarja
मनोरंजन2 hours ago

#MeToo: साउथ इंडियन स्टार पर लगा अश्लीलता का आरोप

लाइफस्टाइल2 hours ago

करवा चौथ के दिन ऐसे निखारें अपनी त्वचा…

hafiz-saeed
राष्ट्रीय2 hours ago

आतंकी हाफिज सईद ने मन्‍नान वानी को दिया शहीद का दर्जा

मनोरंजन2 hours ago

टेनिस पर फिल्म बनाना चाहूंगा: शशांक खेतान

Vizag Prasad
राष्ट्रीय3 hours ago

तेलुगू आर्टिस्‍ट विजाग प्रसाद का निधन

Afghanistan-
अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

अफगानिस्तान : चुनाव के दिन हिंसा में 67 की मौत, 126 घायल

jeans
लाइफस्टाइल1 day ago

जानिए जीन्स का इतिहास, इसमें छुपे एक-एक राज…

Shashi-Tharoor
ओपिनियन4 weeks ago

संशय भरे आधुनिक युग में हिंदू आदर्श धर्म : थरूर

man-min (1)
ज़रा हटके4 weeks ago

इस हॉस्पिटल में भूत-प्रेत करते हैं मरीजों का इलाज

Sonarika Bhadauriya
टेक2 weeks ago

सोशल मीडिया पर कमेंट्स पढ़ना फिजूल : सोनारिका भदौरिया

Kapil Sibal
टेक2 weeks ago

बहुमत के फ़ैसले के बावजूद ग़रीब और सम्पन्न लोगों के ‘आधार’ में हुई चूक!

Matka
ज़रा हटके4 weeks ago

मटकावाला : लंदन से आकर दिल्ली में पिलाते हैं प्यासे को पानी

,Excercise-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

उम्र को 10 साल बढ़ा सकती हैं आपकी ये 5 आदतें…

IAF Chief Dhanoa Rafale Jet
ब्लॉग3 weeks ago

राफ़ेल पर सफ़ाई देकर धनोया ने वायुसेना की गरिमा गिरायी!

Vivek Tiwari
ब्लॉग3 weeks ago

विवेक की हत्या के लिए अफ़सरों और नेताओं पर भी मुक़दमा क्यों नहीं चलना चाहिए?

Ayodhya Verdict Supreme Court
ब्लॉग3 weeks ago

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने सुलझाया कम और उलझाया ज़्यादा!

Amritsar Train
शहर22 hours ago

अमृतसर हादसे पर पंजाब में राजकीय शोक

MEERUT
राष्ट्रीय1 day ago

वीडियो: मेरठ में बीजेपी पार्षद की गुंडागर्दी, दरोगा को जड़े थप्पड़

राजनीति2 weeks ago

छेड़छाड़ पर आईएएस की पत्नी ने चप्पल से बीजेपी नेता को पीटा, देखें वीडियो

airforce
राष्ट्रीय2 weeks ago

Air Force Day: 8000 फीट की ऊंचाई से उतरे पैरा जंपर्स

Assam
शहर2 weeks ago

…अचानक हाथी से गिर पड़े असम के डेप्युटी स्पीकर, देखें वीडियो

Karnataka
ज़रा हटके2 weeks ago

कर्नाटक में लंगूर ने चलाई यात्रियों से भरी बस, देखें वीडियो

Kangana Ranaut-
मनोरंजन3 weeks ago

कंगना की फिल्म ‘मणिकर्णिका’ का टीजर जारी

BIHAR
राजनीति3 weeks ago

नीतीश के मंत्री का मुस्लिम टोपी पहनने से इनकार, देखें वीडियो

Hyderabad Murder on Road
शहर3 weeks ago

हैदराबाद: दिनदहाड़े पुलिस के सामने कुल्हाड़ी से युवक की हत्या

Thugs of Hindostan-
मनोरंजन3 weeks ago

धोखे और भरोसे के बीच आमिर-अमिताभ की जंग, ट्रेलर जारी

Most Popular